4 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है भारतीय नौसेना दिवस

4 दिसंबर को क्यों मनाया जाता है भारतीय नौसेना दिवस

दिल्ली – भारत-पाक युद्ध 1971 में भारतीय नौसेना ने अहम भूमिका निभाई थी। भारतीय नौसेना ने ऑपरेशन ट्राइडेंट चलाया था और पाकिस्तान के कराची एयरपोर्ट स्थित नौसेना मुख्यालय को तबाह कर दिया था। इस अभियान में पहली बार जहाज रोधी मिसाइल का इस्तेमाल किया गया था। चूंकि इस ऑपरेशन की शुरुआत 4 दिसंबर को हुई थी, इसलिए हर साल 4 दिसंबर को भारतीय नौसेना दिवस मनाया जाता है।

भारतीय नौसेना का महत्व –  भारतीय नौसेना देश की समुद्री सीमाओं की रक्षा में अहम भूमिका निभाती है। भारत के अंतरराष्ट्रीय संबंधों को मजबूत करने में भी भारतीय नौसेना का अहम योगदान है। इस दिशा में भारतीय नौसेना अलग-अलग देशों की बंदरगाहों के दौरे का आयोजन करती है, देशभक्ति को बढ़ावा देने वाले मिशनों को बढ़ावा देती है और देश में किसी तरह की आपदा की स्थिति में भी मदद का हाथ बढ़ाती है।

भारतीय नौसेना के पश्चिमी नौसेना कमान का मुख्यालय मुंबई में है। इस मौके पर पश्चिमी कमान के जहाज और नौसैनिक एक साथ इकट्ठा होते हैं और इस दिन को मनाते हैं। नौसेना दिवस समारोहों से पहले भारतीय नौसेना के जवान 1 दिसंबर, 2019 को मुंबई में रिहर्सल करते हैं जिस दौरान वे अपने कौशलों का प्रदर्शन करते हैं। रिहर्सल अरब सागर में किया जाता है।

नौसेना दिवस समारोहों पर जिन गतिविधियों और कार्यक्रमों का आयोजन होना होता है, उसकी योजना विशाखापट्टनम स्थित भारतीय नौसेना कमान तैयार करती है। इसकी शुरुआत युद्ध स्मारक पर पुष्पांजलि के साथ होती है और। उसके बाद नौसेना की पनडुब्बियों, जहाजों, विमानों आदि की ताकत और कौशल का प्रदर्शन किया जाता है।

इस मौके पर भारतीय नौसेना की ओर से नुमाइश का भी आयोजन किया जाता है। उस दौरान आम लोग भी भारतीय नौसेना के युद्धपोतों और विमानों का भ्रमण कर सकते हैं। नौसेना उत्सव में अर्नाकुलम में पत्रकारों द्वारा सैन्य फोटो प्रदर्शनी का आयोजन किया जाता है।

नेवल इंस्टिट्यूट ऑफ एयरोनॉटिकल टेक्नॉलजी (एनआईएटी) 24 से 26 नवंबर, 2019 तक गुड होप ओल्ड एज होम, फोर्ट कराची में एक सामुदायिक सेवा का आयोजन करता है। इसमें छात्र हिस्सा लेते हैं और नौसेना के डॉक्टरों का मनोरंजन करते हैं। नेवी फेस्ट में नेवी बॉल, नेवी क्वीन और कुछ अन्य प्रतियोगिताओं का भी आयोजन होता है

भारतीय नौसेना में काम करते हैं लगभग 67,000 कर्मचारी –  भारतीय नौसेना राष्ट्र की समुद्री सीमाओं को सुरक्षित करने के साथ-साथ भारत के अंतर्राष्ट्रीय संबंधों को विभिन्न माध्यमों जैसे कि समुद्री यात्राओं, संयुक्त उपक्रमों, देशभक्ति मिशनों, आपदा राहत, और कई अन्य में तेजी लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। क्या आप जानते हैं कि भारतीय नौसेना में लगभग 67,000 कर्मचारी और लगभग 295 नौसेना शस्त्रागार हैं? इसे दक्षिण एशिया की सबसे शक्तिशाली सेना माना जाता है। भारतीय सशस्त्र बलों में तीन विभाग हैं, भारतीय सेना, नौसेना और वायु सेना। भारतीय सेना हमारी जमीन की रक्षा करती है, नौसेना हमारे पानी की रक्षा करती है और वायु सेना हमारे हवाई क्षेत्रों की रक्षा करती है।

कैसे मनाया जाता है नौसेना दिवस – नौसेना दिवस समारोह के लिए, भारतीय नौसेना के जवानों ने 1 दिसंबर, 2019 को मुंबई में एक पूर्वाभ्यास के दौरान अपने कौशल का प्रदर्शन किया। रिहर्सल मुंबई में गेटवे पर अरब सागर में हुआ। भारत में स्थित नौसेना के सभी शाखाओं में इस दिन कार्यक्रम और एक्टिविटीज आयोजित किए जाते हैं। इस दिन आसमानों में एक साथ नौसेना के कई विमानों को अपना कौशल दिखाते हुए देखा जाता है।

 

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *