किस्सा कहानी

किताब में मोरपंख रखने का अनोखा रिवाज

रांची -  मेरी पढ़ाई कक्षा ७ तक हिंदी माध्यम स्कूल में हुयी थी ।उसके बाद मेरा दाखिला एक अंग्रेजी माध्यम स्कूल में करा दिया गया। जब उस स्कूल में गया अँग्रेजी माध्यम था सर लोग जो भी कुछ पढ़ाते थे मुझे कुछ भी समझ में नहीं आता था। मैं बहुत शांत रहता था किसी...

स्कूल में नाना और बाबा सुनायेंगे कहानियां

सरकारी स्कूल का नाम सामने आते ही एक ऐसे स्कूल की तस्वीर सामने आती है जिसकी हालत बहुत बेहतर नहीं कही जा सकती। बेतरतीब व टूटा फर्नीचर, गंदे टायलेट और स्कूल से गायब टीचर कुछ ऐसी ही तस्वीर सामने आती है। मगर लखनऊ के कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने इस तस्वीर को बदलने की जो...

Birth Anniversary: भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

डॉ. राजेंद्र प्रसाद का जन्म 3 दिसंबर 1884 को हुआ था। वह भारत के पहले राष्ट्रपति थे। भारत की आजादी की लड़ाई में उन्होंने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया था। कांग्रेस में शामिल होने वाले बिहार के वह प्रमुख नेताओं में से थे। वकालत में पोस्ट ग्रैजुएट डॉ. राजेंद्र प्रसाद महात्मा गांधी के बहुत बड़े...

अब आयेगा मजा

अब स्कूलों में कहानियां सुनाएंगी दादी-नानी राजस्‍थान सरकार का अनूठा फैसला कहानी सुनने-सुनाने की ये परम्परा बच्चों के मनोरंजन के साथ ही उन्हे संस्कारित भी करती हैं। प्राचीन भारतीय मूल्यों के प्रति बच्चों के बालमन में श्रद्धा भी उत्पन्न करती हैं। साथ ही संस्कार पीढ़ी दर पीढ़ी अग्रसित होते हैं। एकाकी घरों के चलन ने इस पीढ़ी...