गुजरात की 9 साल की धनश्री ने माउंट एलब्रूस फतह कर रच दिया इतिहास

0
64
13 जून को चढ़ाई शुरू की थी और 18 जून को इस परिवार ने माउंट एलब्रेस फतह कर लिया। गुजरात में सूरत की रहने वाली धनश्री मेहता ने महज 9 साल की उम्र में एलब्रूस माउंट रेंज को फतह कर लिया है। ऐसा करने वाली वह सबसे कम उम्र की  माउंटेन क्लाइंबर बन गई हैं। एलब्रूस यूरोप की सबसे ऊंची माउंट रेंज है।
18 हजार 510 फीट है एलब्रूस की ऊंचाई
इस पर्वत की ऊंचाईं 18 हजार 510 फीट है। धनश्री ने अपनी मां सारिका, 13 साल के भाई जनम और पिता जिगनेश के साथ यह पर्वतश्रृंखला फतह की। उन्होंने 13 जून को चढ़ाई शुरू की थी और 18 जून को इस परिवार ने माउंट एलब्रेस फतह कर लिया।
परिवार के साथ जाना चाहती थी धनश्री
धनश्री ने एक अंग्रेजी अखबार को बताया कि उनकी मम्मी ने कभी माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई नहीं की, मैं वहां जाना चाहती हूं। हम एक बार फिर परिवार के साथ माउंट एवरेस्ट फतह करने जाएंगे। पेशे से डॉक्टर, पर्वतारोही और बाइकर धनश्री की मां सारिका नेबताया, ‘एक समय पर भारी तूफान आने की वजह से हमने वापस जाने का फैसला कर लिया था। हम बच्चों के लिए बहुत डरे हुए थे। लेकिन बच्चे दृढ़ रहे। उन्होंने कहा कि जब हमें 3 चौथाई चढ़ाई कर ली है तो अब शिखर पर भी चलते हैं।’
धनश्री और उसके परिवार के लिए आखिरी दिन सबसे ज्यादा कठिन था क्योंकि उन्हें 10 से 12 किलो वजन पीठ पर लादकर शिखर तक पहुंचने में 11 घंटे लग गए। धनश्री और जनम का उत्साह बढ़ाने में दूसरे पर्वतारोहियों ने भी मदद की। एलब्रूस माउंटेन यूरोप और रूस की सबसे ऊंची माउंट रेंज है। इसके दो पीक पॉइंट हैं। वेस्ट और नॉर्थ। वेस्ट पीक पॉइंट की उंचाई 5642 मीटर है। वहीं नॉर्थ पीक पॉइंट 5621 है। ये दुनिया की 10वीं सबसे ऊंची चोटी है। धनश्री ने बताया, ‘मेरी मां ने कभी माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई नहीं की, मैं वहां जाना चाहती हूं। हम एक बार फिर परिवार के साथ माउंट एवरेस्ट फतह करने जाएंगे।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here